Skip to main content

Posts

Best Emotional Shayari in hindi on life , इमोशनल शायरी, Emotional Shayari

Best Emotional Shayari in hindi on life , इमोशनल शायरी, Emotional Shayari Emotional shayari :- किसी के दिल पे क्या गुजरी हे वो अनजान क्या जाने, प्यार किसको कहते हे वो नादान क्या जाने, हवा के साथ उठा ले गया घर का परिंदा, केसे बना था ये घोसला वो तूफान क्या जाने. कितनी अजीब बात है ना जब तू मेरे पास थी तो, हर दम ये सोचता था की क्या में तेरी कदर नहीं करता और आज तू मेरे पास नहीं है तो है तो ये एहसास होता है की, कदर तो हमेशा से थी मगर तुजे न खोने के यकीन ने अँधा कर दिया था. दुश्मन भी मेरे मुरीद हैं शायद वक़्त बेवक्त मेरा नाम लिया करते हैं मेरी गली से गुज़रते हैं छुपा के खंजर रु-ब-रु होने पर सलाम किया करते हैं. एक पल भी सोती नहीं है आँखे, चले आईये आँसुओं के संग गुजरती है राते, चले आईये इन्तजार के मोती रोज लुटाती है आँखे बड़ा सताती है तुम्हारी बाते, चले आईये. भीड़ भाड़ को छोड़ आए हैं बस तन्हाई भाई है. वहां बहुत बेचैनी भोगी यहां खुमारी छाई है. वो सवाल अब यहां नहीं हैं जिनके उत्तर मुश्किल थे. जितनी हमने इच्छा की थी उतनी राहत पाई है. दिल जब टूटता है तो आवाज नहीं आती! हर किसी को मुहब्बत रास नहीं आती

Best dard bhari shayari in hindi , latest dard shayari in hindi

    Best dard bhari shayari in hindi in 2021, latest dard shayari in hindi   हम आँखों से रोये और होठो से मुस्कुरा बैठे, हमतो बस यूँ ही उनसे इश्क-ए-वफ़ा निभा बैठे, वो हमे अपनी मोहब्बत का एक लम्हा भी न दे सके, और हम उन पर यूही हर लम्हा लूट बैठे। प्यार हर किसी को जीना सिखा देता है, वफ़ा के नाम पर मरना सिखा देता है, प्यार नही किया तो करके देखो, ये हर दर्द सहना सिखा देता है। आज तेरी याद को सीने से लगा कर हम रोये, हम तुझे तन्हाई में पास बुलाकर रोये, पाना तो बहुत चाहा था हर बार तुझे, पर हर बार तुझे न पाकर हम रोये। वो नही आती पर अपनी निशानी भेज देती है, ख्वाबो में दास्ताँ पुरानी भेज देती है, उसकी यादों के पल कितने भी मीठे हैं, मगर कभी कभी आँखों में पानी भेज देती है। इन आँखों में कभी हमारे आंसू आये न होते, अगर वो पीछे मुड़ कर मुस्कुराये न होते, उनके जाने के बाद यही गम रहेगा, के काश वो हमारी जिंदगी में आये न होते। अब तो हमे उदास रहना भी अच्छा लगता है, किसी के पास न होना भी अच्छा लगता है, अब मैं दूर हूँ तो मुझे कोई फर्क नही पड़ता, क्योंकि मुझे किसी की यादो में आना भी अच्छा लगता है। किसी से प्यार करना

Best [ 101 ] mirza ghalib shayari in hindi, best ghalib shayari in hindi

Best mirza ghalib shayari in hindi, best ghalib shayari in hindi About mirza ghalib; मिर्ज़ा ग़ालिब का जन्म काला महल, आगरा में मुगलों के एक परिवार में हुआ था जो सेलजुक राजाओं के पतन के बाद समरकंद (आधुनिक-उज्बेकिस्तान में) चले गए थे।  उनके पितामह, मिर्ज़ा क़ौकान बेग, एक सेल्जूक़ तुर्क थे, जिन्होंने अहमद शाह (1748-54) के शासनकाल में समरकंद से भारत में प्रवास किया था।  उन्होंने लाहौर, दिल्ली और जयपुर में काम किया, पहासू (बुलंदशहर, यूपी) के उप-जिले से सम्मानित किया गया और अंत में आगरा, यूपी, भारत में बस गए।  उनके चार बेटे और तीन बेटियां थीं।  मिर्ज़ा अब्दुल्ला बेग और मिर्ज़ा नसरुल्ला बेग उनके दो बेटे थे।    मिर्ज़ा अब्दुल्ला बेग ( ग़ालिब के पिता) ने इज्ज़त-उत-निसा बेगम से शादी की, जो एक जातीय कश्मीरी थी, और फिर अपने ससुर के घर पर रहती थी।  वह पहले लखनऊ के नवाब और फिर हैदराबाद के निज़ाम, डेक्कन से कार्यरत थे।  1803 में अलवर में एक लड़ाई में उनकी मृत्यु हो गई और उन्हें राजगढ़ (अलवर, राजस्थान) में दफनाया गया।  इसके बाद, ग़ालिब की उम्र 5 साल से थोड़ी कम थी।  उसके बाद उनके चाचा मिर्ज़ा नसर

Best [101] gulzar shayari in hindi, shayari gulzar, new gulzar ki shayari

    Best gulzar shayari in hindi, shayari gulzar, new gulzar ki shayari Gulzar shayari;  Gulzar shayari  Gulzar shayari तेरी तरह बेवफा निकले मेरे घर के आईने भी¸ खुद को देखूं  तेरी तस्वीर नजर आती है। Gulzar shayari हाथ छुटे भी तो रिश्ते नहीं नहीं छोड़ा करते, वक्त की शाख से लम्हें नहीं तोडा करते। Gulzar shayari डर लगता है कि कहीं खो ना दूँ तुम्हें, सच ये भी है कि कभी पाया ही नहीं तुम्हें कुछ ऐसे हो गए है इस दौर के रिश्ते‍‍‍¸ आवाज अगर तुम ना दो तो बोलते वह भी नही। गुलाम थे  तो हम सब हिंदुस्तानी थे¸ आजादी ने हमें ️हिंदू मुसलमान बना दिया Gulzar shayari नजरों का खेल ही तो था सरकार...... तुम चुरा ना सकी और हम हटा नही सके  Gulzar shayari कभी तो चौक के देखे कोई हमारी तरफ़,  किसी की आँखों में हमको भी को इंतजार दिखे। Gulzar shayari ख़ुशबू जैसे लोग मिले अफ़्साने में, एक पुराना ख़त खोला अनजाने में Gulzar shayari घर में अपनों से उतना ही रूठो कि आपकी बात और दूसरों की इज्जत, दोनों बरक़रार रह सके Gulzar shayari तुझ को बेहतर¸ बनाने की कोशिश में¸ मैं तुझको ही वक्त नही दे पा रहा हूं¸ माफ करना ए जिंदगी  तुझको

new Hindi shayari collection, best 51 hindi shayari collection, best shayari collection in Hindi

  Hindi shayari collection, best 51 hindi shayari collection, shayari collection in Hindi, Best Hindi shayari collection  बहुत कुछ सिखा जाती है जिंदगी, हंसा के रुला जाती है जिंदगी, जी सको जितना उतना जी लो दोस्तों, क्योंकि बहुर कुछ बाकी रहता है और ख़त्म हो जाती है जिंदगी !! हालात के कदमों पर सिकंदर नहीं झुकता, टूटे भी तर तो ज़मीन पर नहीं गिरता, गिरती है बड़े शौक से समंदर में नदियां, कभी किसी नदी में समंदर नहीं गिरता !! दुनिया का हर शौक पाला नहीं जाता, कांच के खिलौनों को उछाला नहीं जाता, मेहनत करने से हो जाती है हर मुश्किल आसान, क्योंकि हर काम तक़दीर पर टाला नहीं जाता !! मुश्किल इस दुनिया में कुछ भी नहीं, फिर भी लोग अपने इरादे तोड़ देते है, अगर सच्चे दिल से हो चाहत कुछ पाने की, तो रास्ते के पत्थर भी अपनी जगह छोड़ देते है !! प्रार्थना ऐसी करनी चाहिए जैसा की, सब कुछ ईश्वर पर ही निर्भर है, और काम ऐसे करने चाहिए जैसे, की सब कुछ हम पर निर्भर है !! करे कोशिश अगर इंसान तो क्या-क्या नहीं मिलता, वो सिर उठा के तो देखे जिसे रास्ता नहीं मिलता, भले ही धूप हो, काँटे हो राहों में मगर चलना तो पड़ता है, क्योंकि