Skip to main content

Hindi romantic shayari, latest romantic shayari

  Hindi romantic shayari 1. मुझे फ़िज़ूल में गालियां बक रहे हो तुम मैने उसका दिल नहीं तोड़ा, वो खुद चली है मुझे छोड़ कर मैने उसे नहीं छोड़ा muze fizul me gaaliya bak rahe ho tum mene uska dil nahi toda, vo khud chali he muze chhodkar mene use nahi chhoda 2. सुना था कि सिशा बेवफाओं को देखकर टूट जाता है, वो सामने थी मैने इसे नहीं तोड़ा sunaa tha ki shisha bewfaao ko dekhkar tut jaata  he, vo saamne thi mene ishe nahi toda 3. मुझसे नाराज़ हो तो आशु बहालो,और लगाना ही है तो गले लगालो ,और ये व्हाट्स इंस्टा की बाते मुझे सामजमे नहीं आती बात ही करनी है तो फोन लगालो muzse naaraz ho to aashu bahaalo,aur lagaana hi he to gale lagaalo,aur ye WhatsApp insta ki baate muze samzme nahi aati baat hi karni he to phon lagaalo 4. रख अपने दिल पर हाथ और पूछ अपने खुदा से तुझे मुझसे ज्यादा कोई चाह सकता है,और में जानता हूं कि तू किस्मत बुरी है,पर एशी बुरी किस्मत अपने लिए कोई मांग सकता हैं rakh apne dil par hath aur puchh apne khuda se tuze muzse jyadaa koi chah skta he,aur me janta hu ki tu kismat buri he,par e

Hindi romantic shayari, new hindi romantic shayari

 Hindi romantic shayari



1.


होश में आना बेहोश जाना इसी आदत मेरे जाना मत बनाओ, घर को मेरे घर ही रहेने दो इसको मेहखाना मत बनाओ


hosh me aana behosh jaana ishi aadat mere janaa mat banaao, ghar ko mere ghar hi rahene do ishko mahekhana mat banaao



2.


जहा हर तरफ प्यार के फूल खिलेथे एशा जमाना मिला था हमको, और जो मेरे हुष्न पर नहीं सिर्फ मेरी हसी पर मारता एशा एक परवाना मिला था


jahaa har tarf pyar ke fuul khile the esha jamaana mila tha, jo mere hushn par nahi meri hashi par martaa esha parvana mila tha



3.


जो एक ही रूह कि दीवानगी में बीते वो जवानी अच्छी है,जिन किष्शो में किरदार हो तेरा वो कहानी अच्छी है


jo ek hi ruh ki diwangi me bite vo javaani achhi he, jeen kichho me kirdaar ho tera vo kahaani achhi he



4.


नए शहर जाकर पुराने लोगो को भूल गया तू, वक़्त के साथ रंग बदलना कहा से सीखा है और मुझसे तो तुमने मेरी जान महॉबत सीखी थी तो ये रंग बदलना कहासे सीखा


naye shahr jaakar puraane logo ko bhul gaya tu,waqt ke sath rang badlna kaha se sikha he aur muzse to tum meri jaan mahhobat sikhi thi to ye rang badlnaa kaha se sikh liya 



5.


यकीन करने की मिट्टी अब ज़हरीली हो गई है और ,उसमे भी ये लड़का महॉबत के बाग लगा सकता था और किसी मुस्कान के सामने बुझा लिया खुद को मैने  वरना अगर चाहता तो शहर में आग लगा सकता था


yakin karne ki mitti jahreeli ho gai thi, usme bhi ye ladka mahobbat ke baag laga sakta tha aur kishi muskan ke saamne buza  liya khud ko varnaa chahta to shahar me aag laga shakta tha



6.


बहोट ही नाज़ुक सा रिश्ता निभाना पड़ता है, किसी की दिल की बात का मर मोहने के लिए,और वादे तोड़कर जीना आसान नहीं होता हीमत चाहिए बेशर्म होने के लिए


bahot hi naajuk sa rista nibhana padta he , kishi ki dil ki baat ka mar mohne ke liye, aur vaade todakar jeena aasan nahi hota himmat chahiye beshrm hone ke liye



7.


महॉबत ज्यादा है तुझसे इसीलिए जुक गया, वरना बड़े से बड़े जमेले टक्कर नहीं दे सके मुझे और मेरे बाद जितने नमूने आए उसकी जिंदगी में मेरी महॉबत को टक्कर नहीं दे सके।


mahobbat jyada he tuzse ishiliye zuk gaya, varna bade se bade zamele takkr nahi de sake muze aur mere baad jitne namune aaye uski jindgi me meri mahobbat ko takkr nahi de sake 



8.


वक़्त है अपने पास बदल ने का हुनर रखता है,वक़्त ही कुछ कर गया होगा और उसकी गलती नहीं मुक्कदर का खेल है सारा,उसका दिल ही तो था मुझसे भर गया होगा


waqt he apne paas badal ne ka hunar rakhta he ,waqt hi kuch kar gaya hoga aue uski galti nahi mukkdar ka khel he saraa, uska dil ho to tha muzse bhar gaya hoga



9.


मैने पूछा खुदा से क्यों किया जुड़ा हमें क्या बात है, मुझसे बढ़कर तू उसकी इबादत करने लगा था ये उसिकी साजा है


mene puchha khuda se kyo kiya juda hane kya baat he, muzse badhkar tu uski ibaadat karne lagaa tha ye uskisazaa he



10.


दिन तो गुजर जाता है हस कर फिर एक उदासी भारी साम आती है, फिर चलती है तेज हवाएं और तेरी यादों का तूफ़ान लती है


din to guzar jaata he has kar fir ek udaasi bhari saam aati he, fir chalti he tez havaye aur teri yaado ka tufaan laati he



11.


हिजर का फेशिला सुना कर कहेटे है अब बचा है क्या है, हमारी तमाम खुशियां शिन कर कहेटे है हमने तुमसे लिया है क्या है


hizar kaa fesila suna kar kahete he ab bacha he kya he, hamari tamam khushiya shin kar kahete he hamne tumse liya he kya he



12.


तेरी गलती भी गलती नहीं लगती इतनी खाश है तू, खुली आंखों से बेशक दूर है तू आखे बंद करली तो मेरे पास है तू


teri galti bhi galti nahi lagti itni khash he tu, khuli aakho se beshak dur he tu aakhe band karli to mere paas he tu



Comments

Popular posts from this blog

Latest Dosti shayari, friendship shayari, dosti shayari image

  Latest Dosti shayari, friendship shayari, dosti shayari image 1.rista Pyar karne valo ki kismat buri hoti  he har Milan judai se hoti he risto  ko bhi kabhi parakh Kar dekhna  dosti har riste se badi hoti he  प्यार करने वालों की किस्मत बहुत बुरी होती है, और  हर  मिलन जुदाई से होता है, रिस्तो को कभी परख  कर देख लेना दोस्ती हर रिश्ते से बड़ी होती है! 2.Dard Dard ko dard se na dekho  Dard ko bhi dard hota he  Dard ko jarurat he dost ki  Aakhir dost hi dard me hamdard hota he  दर्द को दर्द से ना देखो  दर्द को भी दर्द होता है  दर्द को जरूरत है दोस्त की  आखिर दोस्त ही दर्द में हमदर्द होता है  3.Vafa Gunah karke sajaa se darte he  Zahar pi ke davaa se darte he  Dusmno ke sitam ka khouf nahi Ham to dosto ki vafa se darte he  गुनाह करके सज़ा से डरते हैं  जहर पी के दवा से डरते हैं  दुश्मनों के सितम का खौफ नहीं  हम तो दोस्तों की वफ़ा से डरते हैं 4.khun ka rista Kyu muskilo me sath dete he dost  Kyu gam ko baat lete he dost  Na rista khun ka ka rivaaj se bandha  Fir bhi jindgi bhar sath dete he d

Hindi romantic shayari, latest romantic shayari

  Hindi romantic shayari 1. मुझे फ़िज़ूल में गालियां बक रहे हो तुम मैने उसका दिल नहीं तोड़ा, वो खुद चली है मुझे छोड़ कर मैने उसे नहीं छोड़ा muze fizul me gaaliya bak rahe ho tum mene uska dil nahi toda, vo khud chali he muze chhodkar mene use nahi chhoda 2. सुना था कि सिशा बेवफाओं को देखकर टूट जाता है, वो सामने थी मैने इसे नहीं तोड़ा sunaa tha ki shisha bewfaao ko dekhkar tut jaata  he, vo saamne thi mene ishe nahi toda 3. मुझसे नाराज़ हो तो आशु बहालो,और लगाना ही है तो गले लगालो ,और ये व्हाट्स इंस्टा की बाते मुझे सामजमे नहीं आती बात ही करनी है तो फोन लगालो muzse naaraz ho to aashu bahaalo,aur lagaana hi he to gale lagaalo,aur ye WhatsApp insta ki baate muze samzme nahi aati baat hi karni he to phon lagaalo 4. रख अपने दिल पर हाथ और पूछ अपने खुदा से तुझे मुझसे ज्यादा कोई चाह सकता है,और में जानता हूं कि तू किस्मत बुरी है,पर एशी बुरी किस्मत अपने लिए कोई मांग सकता हैं rakh apne dil par hath aur puchh apne khuda se tuze muzse jyadaa koi chah skta he,aur me janta hu ki tu kismat buri he,par e

Hindi attitude shayari , new attitude shayari

  attitude shayari:-                             1.      Ye to ham he jo apna pyar nibha  rahe he jis din chodkar chale  jayenge aukaat pata chal jayegi ये तो हम है कि जो अपना प्यार निभा रहे है, जिस दिन छोड़कर चले जायेंगे‪ औकात   पता चल जाएगी तुझे खुद की                            2. Andaz kuch alag he mera  sab ki attitude ka shouk he  muze attitude todne ka  अंदाज़ कुछ अलग है मेरा सब को  ATTITUDE का शौक है,  मुझे ATTITUDE तोडने का                        3. Ham bhi navab he logo ki akad Dhue ki tarah udakar aukat sigaret Ki tarah choti kar dete he  हम भी नवाब है लोगों  की अकड़  धूएँ  की तरह उड़ाकर, औकात सिगरेट   की तरह छोटी  कर देते है ।                      4. Pareshan na hua karo logo  ki baato se kuch log peda  hi bakvas karne ke liye hote he  परेशान ना हुआ करो लोगों की  बातों से कुछ लोग पैदा ही बकवास  करने के लिए हुए होते हैं।                         5. Rahe badle ya badle waqt ham to  apni manzil payenge jo samzate he  khud ko badshah bhi ek din use apne  darbar me jarur nachayeng