Skip to main content

Hindi romantic shayari, latest romantic shayari

  Hindi romantic shayari 1. मुझे फ़िज़ूल में गालियां बक रहे हो तुम मैने उसका दिल नहीं तोड़ा, वो खुद चली है मुझे छोड़ कर मैने उसे नहीं छोड़ा muze fizul me gaaliya bak rahe ho tum mene uska dil nahi toda, vo khud chali he muze chhodkar mene use nahi chhoda 2. सुना था कि सिशा बेवफाओं को देखकर टूट जाता है, वो सामने थी मैने इसे नहीं तोड़ा sunaa tha ki shisha bewfaao ko dekhkar tut jaata  he, vo saamne thi mene ishe nahi toda 3. मुझसे नाराज़ हो तो आशु बहालो,और लगाना ही है तो गले लगालो ,और ये व्हाट्स इंस्टा की बाते मुझे सामजमे नहीं आती बात ही करनी है तो फोन लगालो muzse naaraz ho to aashu bahaalo,aur lagaana hi he to gale lagaalo,aur ye WhatsApp insta ki baate muze samzme nahi aati baat hi karni he to phon lagaalo 4. रख अपने दिल पर हाथ और पूछ अपने खुदा से तुझे मुझसे ज्यादा कोई चाह सकता है,और में जानता हूं कि तू किस्मत बुरी है,पर एशी बुरी किस्मत अपने लिए कोई मांग सकता हैं rakh apne dil par hath aur puchh apne khuda se tuze muzse jyadaa koi chah skta he,aur me janta hu ki tu kismat buri he,par e

Hindi dard shayari, latest hindi dard shayari

Hindi dard shayari


1.


 मना कर रखा हमने दुश्मनों को भी सिर्फ उनके कहेने पर किसी को भूल कर भी नाराज़ नहीं किया और वो ज़ेहन तक घुस कर कहीट है अजी हमें भूल जाओ अजी हमने मझोबात की है कोई टाईमपास नहीं किया।


manaa kar rakha hamne dusmno ko bhi sirf unke kahene par kisi ko bhul kar bhi naraaz nahi kiya aur vo zahen tak ghus kar kaheti he aaji hame bhul jaao aur hamne mahobbat ki he koi timepaas nahi kiya.



2.


हो गया उनसे एक तरफा वाला अब ना जाने में कोंनसी मोत मारूंगा, और किसी की हिम्मत नहीं हमारा रास्ता तक काट दे, मगर वो गर्दन भी काट दे तो मे चू तक नहीं करूंगा।


ho gaya unse ek tarfaa vala ab na jaane me konsi moat marunga, aur kisi ki himmat nahi hamara rasta tak kaat de , magar vo gardan bhi kaatde to me chu tak nahi karunga 



3.


जब उसने हमें कुबूल किया तो उसके सारे आशिकों पर 

एक जफा हो गया, और महेफिल में महिगी से महिगी सराब रखी थी खातिर दारी के लिए  उसने होठ से क्या लगाई सला बोतल को ही नशा हो गया।


jab usne hame kubul kiya to uske saare aashiko par ek zafaa ho gaya , aur mahefeel me mahegi se mahegi saraab rakhi thi khatirdari ke liye usne hoth se kya lagai sala botal ko hi nasha ho gaya.



4.


तू लेले सिर्फ यकीन मेरा तेरे सारे इल्ज़ाम अपने सिर के सकता हूं, अगर एक बार तुम हमें जान गए तो दुनिया भूल जाओगे यह बात सिर्फ बोलकर नहीं लिखकर दे सकता हूं 


tu lele sirf yakin mera tere sare ilzam apne sir ke skta hu,agar ek baar tum hame jaan gaye to duniya bhul jaoge yah baat sirf bolkar nahi likhakar de sakta hu.



5.


जब महहोबात सिर पर चढ़ती है, तो खुद को बाद में पहले यार को महेफुस किया जाता है, और तुम्हे हम पर शक है तो तुम्हारी गलती है सनम इस्क दिखाया नहीं जाता महरसुस किया जाता है।


jab mahobbt sir par chadh he,to khud ko baad me pahle yaar ko mahefus kiya jata he, aur tumhe ham par shak he to tumhari galti he sanam isqa dikhaya nahi jataa mahsur kiya jataa he.



6.


एक भी चालाकी नहीं की, मगर फिर भी कोई हमारा किनारा कुतर जाता है, और कोनसा रिश्ता हमारा तुमसे ये खुदा ही जाने, उदास तुम होते हो चहेरा हमारा उतार जाता है।


ek bhi chalaki nahi ki , magar fir bhi koi hamara kinara kutar jataa he, aur konsa rista hamara tumse ye khuda hi jaane, udaas tum hote ho chahera hamara utaar jataa he 



7.


बड़ी हिम्मत करके आज तेरा इस्क तुझे रुलाने वाला है,

पगली दरवाजा बंद करले आज मेरा जनाजा आने वाला है


badi himmat karkr tera isaq tuze rulane vala he, pagali darvaja band karle aaj mera janazaa aane vala he.



8.


अगर महॉबत है मुझसे तो चीर दे ज़माने को अगर मतलब है मुझसे तो तीर दे निशाने को अगर दोस्ती है मुझसे तो अंजाम दे याराने को और दुश्मनी है मुझसे तो जिगर रख निभाने को


agar mahobbt he muzse tu chir de jamane ko

agar matlab he muzse to tir de nishane ko agar dosti he muzse to anzam de yaari ko aur dusmani he muzse to jigar rakh nibhane ko.



9.


 ये हिचकियां भि ताब आती है, जब पानी दूर होता है, जाना फोन पर शहेलियो से मेरी बाते बतलाया मत करो


ye hichkiya bhi tab aati he, jab paani dur hota he,jaana phon par shaheliyo se meri baate batlaaya mat karo



10.


बहोत मुश्किल से छुपा पति हूं हमारी बाते सबसे,

तुम ग़ज़लों में लिखकर सबको हमारी बातें सुनाया मत करो


bahot mushkil se chhupa paato hu tumhari baate sabse, aur tum gazlo me likhkar sabko hamari baate sunaaya mat karo 



11.


सोचता हूं कि उसकी यादों को जलादू अलाव के बीच रख कर पर इन लकड़ियों को तुम अपनी आशुओ से भिगाया मत करो


sochta hu ki uski yaado ko jaladu alaav ke bich rakh kar par in lakdiyo ko tum apni aashuo se bhigaya mat karo 



12.


चहेरे की खुशी अब वो मस्किलो से छुपाती है,मेरे जाने के बाद अब वो सिंगल है ईशा सबको बताती है,बदल बदल कर फिल्टर वो insta पर डीपी लगती है, गुलज़ार की शायरी की जगह अब अपने फोटो को स्टेट्स में लगती है


chahere ki khushi ab vo muskilo se chhupati he, mere jaane ke baad ab vo singal he esha sabko bataati he, badal badal kar filtr vo insta par dp lagaati he,gulzaar ki shayari ki jagah ab apne photo ko status me lagaati he

Comments

Popular posts from this blog

Latest Dosti shayari, friendship shayari, dosti shayari image

  Latest Dosti shayari, friendship shayari, dosti shayari image 1.rista Pyar karne valo ki kismat buri hoti  he har Milan judai se hoti he risto  ko bhi kabhi parakh Kar dekhna  dosti har riste se badi hoti he  प्यार करने वालों की किस्मत बहुत बुरी होती है, और  हर  मिलन जुदाई से होता है, रिस्तो को कभी परख  कर देख लेना दोस्ती हर रिश्ते से बड़ी होती है! 2.Dard Dard ko dard se na dekho  Dard ko bhi dard hota he  Dard ko jarurat he dost ki  Aakhir dost hi dard me hamdard hota he  दर्द को दर्द से ना देखो  दर्द को भी दर्द होता है  दर्द को जरूरत है दोस्त की  आखिर दोस्त ही दर्द में हमदर्द होता है  3.Vafa Gunah karke sajaa se darte he  Zahar pi ke davaa se darte he  Dusmno ke sitam ka khouf nahi Ham to dosto ki vafa se darte he  गुनाह करके सज़ा से डरते हैं  जहर पी के दवा से डरते हैं  दुश्मनों के सितम का खौफ नहीं  हम तो दोस्तों की वफ़ा से डरते हैं 4.khun ka rista Kyu muskilo me sath dete he dost  Kyu gam ko baat lete he dost  Na rista khun ka ka rivaaj se bandha  Fir bhi jindgi bhar sath dete he d

Hindi romantic shayari, latest romantic shayari

  Hindi romantic shayari 1. मुझे फ़िज़ूल में गालियां बक रहे हो तुम मैने उसका दिल नहीं तोड़ा, वो खुद चली है मुझे छोड़ कर मैने उसे नहीं छोड़ा muze fizul me gaaliya bak rahe ho tum mene uska dil nahi toda, vo khud chali he muze chhodkar mene use nahi chhoda 2. सुना था कि सिशा बेवफाओं को देखकर टूट जाता है, वो सामने थी मैने इसे नहीं तोड़ा sunaa tha ki shisha bewfaao ko dekhkar tut jaata  he, vo saamne thi mene ishe nahi toda 3. मुझसे नाराज़ हो तो आशु बहालो,और लगाना ही है तो गले लगालो ,और ये व्हाट्स इंस्टा की बाते मुझे सामजमे नहीं आती बात ही करनी है तो फोन लगालो muzse naaraz ho to aashu bahaalo,aur lagaana hi he to gale lagaalo,aur ye WhatsApp insta ki baate muze samzme nahi aati baat hi karni he to phon lagaalo 4. रख अपने दिल पर हाथ और पूछ अपने खुदा से तुझे मुझसे ज्यादा कोई चाह सकता है,और में जानता हूं कि तू किस्मत बुरी है,पर एशी बुरी किस्मत अपने लिए कोई मांग सकता हैं rakh apne dil par hath aur puchh apne khuda se tuze muzse jyadaa koi chah skta he,aur me janta hu ki tu kismat buri he,par e

Hindi attitude shayari , new attitude shayari

  attitude shayari:-                             1.      Ye to ham he jo apna pyar nibha  rahe he jis din chodkar chale  jayenge aukaat pata chal jayegi ये तो हम है कि जो अपना प्यार निभा रहे है, जिस दिन छोड़कर चले जायेंगे‪ औकात   पता चल जाएगी तुझे खुद की                            2. Andaz kuch alag he mera  sab ki attitude ka shouk he  muze attitude todne ka  अंदाज़ कुछ अलग है मेरा सब को  ATTITUDE का शौक है,  मुझे ATTITUDE तोडने का                        3. Ham bhi navab he logo ki akad Dhue ki tarah udakar aukat sigaret Ki tarah choti kar dete he  हम भी नवाब है लोगों  की अकड़  धूएँ  की तरह उड़ाकर, औकात सिगरेट   की तरह छोटी  कर देते है ।                      4. Pareshan na hua karo logo  ki baato se kuch log peda  hi bakvas karne ke liye hote he  परेशान ना हुआ करो लोगों की  बातों से कुछ लोग पैदा ही बकवास  करने के लिए हुए होते हैं।                         5. Rahe badle ya badle waqt ham to  apni manzil payenge jo samzate he  khud ko badshah bhi ek din use apne  darbar me jarur nachayeng